Maniky stone benifit in hindi सूर्य ग्रह रत्न माणिक्य के चमत्कारी लाभ जो दिला सकता है राजयोग और श्रेष्ठ पद

Maniky stone benifit in hindi सूर्य ग्रह रत्न माणिक्य के चमत्कारी लाभ जो दिला सकता है राजयोग और श्रेष्ठ पद


सभी जातकों के लिए सूर्य का प्रभाव शुभ व अशुभ दोनों प्रकार से होता है। सूर्य से सम्बन्धित समस्याओं के निवारण के लिए इस रत्न का प्रयोग किया जाता है। माणिक्य रत्न धन लाभ,सम्पत्ति लाभ, मान प्रतिष्ठा लाभ, राजयोग लाभ, आदि शीर्ष पद जैसे डाक्टर, राजनेता, वकील, आएएस, पीसीएस, इंजीनियर,  फिल्मी स्टार आदि दिलाने में माणिक्य रत्न प्रभावशाली होता है। सूर्य ग्रह सभी ग्रहों का राजा भी कहा जाता है इसीलिए यह राजयोग दिलाने मे सक्षम रहता है। सूर्य ग्रह रत्न माणिक्य भी नीलम रत्न की तरह ही काम करता है तथा जातक पर अपना प्रभाव डालता है। और यह प्रचलन प्राचीन काल से है राजा लोग अपने मुकुट पर सूर्य ग्रह रत्न  माणिक्य धारण करते थे। लेकिन रत्न धारण करने से पहले ज्योतिष कर्ता को अवश्य दिलाएँ। 

Maniky stone benifit

माणिक्य रत्न इन राशियों को धारण करना चाहिए 

जानिए किन राशियों के लिए शुभ होता है माणिक्य रत्न किस राशी पर कैसा प्रभाव डालेगा। हमें नग या रत्न राशी के अनुसार ही पहनना चाहिए।  माणिक्य रत्न मेष राशि, कर्क राशि,  सिंह राशि, वृश्चिक राशि,  धनुराशि लग्न वाले को माणिक्य रत्न पहनना चाहिए।   और ज्योतिष शास्त्र में यह भी बताया गया है कि जो लोग जुलाई महीने में  या रविवार को जन्म लेते है उन्हें भी माणिक्य रत्न धारण करनें से शुभ लाभ मिलेगा ।

इस राशी के जातक भूलकर भी ना धारण करें माणिक्य रत्न 

कन्या राशी, तुला राशि, मकर राशि,इन राशियों को अशुभ संकेत के साथ शारीरिक कष्टों से गुजरना पढता है।

माणिक्य रत्न चमत्कारी लाभ

माणिक्य रत्न सूर्य ग्रह का रत्न है और सूर्य जिसका प्रबल होता है उसके भाग्य खुल जाते है। इस रत्न के अनेकों फायदे है जो आप पहनकर ही महसूस कर सकते है।

1- हृदय और नेत्र सम्बन्धित रोगियों के लिए रामबाण तुरन्त फायदा।

2- अगर पंचम, नवम, दशम, एकादश भाव में सूर्य ऊच में स्थित हो तो माणिक्य रत्न बहुत ही शुभ संकेत देते है।

3- सूर्य ग्रह रत्न और सूर्य की उपासना का फल कयी गुना अधिक मिलता है। 

4- तरक्की, मान प्रतिष्ठा, सरकारी नौकरी के योग,पदोन्नति,  धन दौलत सभी सूर्य की कृपा से ही प्राप्त होते है।।

5- शारीरिक पुष्टता, आत्मविश्वास में वृद्धि,  ललाट की चमक, तेज दिमाग सूर्य के प्रभाव से ही प्राप्त होते है।

माणिक्य रत्न की पहचान व धारण करने की विधि

कहा जाता है कि माणिक्य रत्न को आंखों के ऊपर रखने से आंखों को ठंडक मिलती है। पानी को भी अपने रंग में रंग देता है। जातक को कम से कम 2.5 रत्ती का अवश्य धारण करना चाहिए। या सामर्थ्य के अनुसार आप 5 रति भी धारण कर सकते है। इस रत्न को सोने की अंगूठी में ही पहनना चाहिए।  और इसको धारण करने का सर्वोत्तमदिन है रविवार आप इसे सोमवार और गुरूवार को भी धारण कर सकते है।

👉 यह भी पढें 



Post a Comment

0 Comments